प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

वेब सर्च (Enter your keywords to search on web)

16 January 2013

सपने

सपने
ईश्वर का वरदान हैंमानव को
क्योंकि सपने
भूत की प्रेरणा से
वर्तमान मे
आधार बुनते हैं
सुनहरे भविष्य का।

©यशवन्त माथुर©

11 comments:

रविकर said...

बढ़िया प्रस्तुति |
आभार आपका ||

Maheshwari kaneri said...

सच है सपने सुनहरा भविष्य बुनते है..

दिगम्बर नासवा said...

सच है भविष्य का आधार सपने देखने ओर मेहनत से बनता है ...

Kailash Sharma said...

बहुत सुन्दर...

विभा रानी श्रीवास्तव said...

सच में !
मैं प्रार्थना करूंगी कि आपके सारे सपने पुरे हों !!

Anita said...

सपने उड़ने की प्रेरणा देते हैं..

Unknown said...

सपने
ईश्वर का वरदान हैंमानव को
क्योंकि सपने
भूत की प्रेरणा से
वर्तमान मे
आधार बुनते हैं
सुनहरे भविष्य का।

सपने ही सच होते हैं।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

सपने ही कुछ नया करने की प्रेरणा देते हैं .... सुंदर भाव

Saras said...

सुन्दर सोच यशवंत ...!

Anonymous said...

सत्य !!!

Anonymous said...

सत्य !!!