प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

वेब सर्च (Enter your keywords to search on web)

25 December 2013

सेंटा हमें बताओ ना .....

सभी स्नेही पाठकों को क्रिस्मस की हार्दिक शुभकामनाएँ !

Image curtsy :google search
मचल रही बच्चों की टोली
क्या लाए हो भर के झोली
सेंटा हमें बताओ ना
खुशियाँ यहाँ बिखराओ ना

परी लोक सी चमकी  धरती
महकी धरती चहकी धरती 
और सुंदर इसे बनाओ ना
हरियाली सजाओ  ना

हम सच्चे हैं,छोटे बच्चे हैं
काले-गोरे हम ही अच्छे हैं
हम को  कुछ समझाओ ना
रंगभेद को मिटाओ ना

क्रिस्मस का दिन है, बड़ा दिन है
तुम्हारा बहुत ही बड़ा दिल है
तुम भी नाचो गाओ ना
हम में घुल मिल जाओ ना

हर बोली में दुनिया बोली 
क्या लाए हो भर के झोली
सितारे ज़मीं पे लाओ ना
सेंटा हमें बताओ ना

~यशवन्त यश©

इस रचना के लिये फेसबुक पर बाल उपवन ग्रुप की ओर से प्रदत्त प्रमाण पत्र -



02/01/2014

12 comments:

डॉ. मोनिका शर्मा said...

कशा ऐसा ही हो.... सुंदर भाव

Anita said...

वाह, बच्चों की प्यारी फरियाद सुनकर सांता भी रुक गये होंगे..

सुशील कुमार जोशी said...

बहुत सुंदर रचना !

दिगम्बर नासवा said...

भावपूर्ण रचना ... क्रिसमस की बधाई ...

parul said...

वाह... सुन्दर

ANULATA RAJ NAIR said...

amen !!!
merry christmas
anu

विभा रानी श्रीवास्तव said...

“मेरी क्रिसमस!!”

देवेन्द्र पाण्डेय said...

सुंदर...

Unknown said...

आहा ! मैं भी इसे पढ़ बच्ची बन गयी :)

Unknown said...

मुमकीन हो जाये

Maheshwari kaneri said...

बहुत बढिया सुन्दर भाव…क्रिसमस की बधाई

Onkar said...

सुन्दर बाल कविता