+Get Now!

प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

01 July 2017

छोटू .....

रामू की
चाय की दुकान पर
कोल्हू का बैल बना
छोटू
इस गर्मी में
अंगीठी की आंच
खौलते दूध की भाप
और ग्राहकों की मांग
झेलता हुआ भी
बना रहता है
तरो -ताज़ा।

उसकी मुस्कुराहट
और
मक्खन की
टिक्की की तरह
मुलायम
उसकी बातें
बना देती हैं
रामू की दुकान को
और भी मशहूर
क्योंकि
छोटू के हाथ की चाय
समोसे
और बन-मक्खन
दूर  कर चुके हैं
उससे उसका बचपन।

-यश©
(वास्तविक और आँखों देखी पर आधारित)