प्रतिलिप्याधिकार/सर्वाधिकार सुरक्षित ©

इस ब्लॉग पर प्रकाशित अभिव्यक्ति (संदर्भित-संकलित गीत /चित्र /आलेख अथवा निबंध को छोड़ कर) पूर्णत: मौलिक एवं सर्वाधिकार सुरक्षित है।
यदि कहीं प्रकाशित करना चाहें तो yashwant009@gmail.com द्वारा पूर्वानुमति/सहमति अवश्य प्राप्त कर लें।

वेब सर्च (Enter your keywords to search on web)

Showing posts with label तकनीकी. Show all posts
Showing posts with label तकनीकी. Show all posts

10 September 2020

True Caller को मिलने वाली है Google से चुनौती

True Caller एक ऐसी एप्लीकेशन है जो लगभग सभी के एंड्रॉएड फोन में पाई जाती है। एक ऐसे समय में जब हर व्यक्ति व्यस्त है, सभी का प्रयास यथा संभव अनचाहे फोन कॉल्स से बचना होता है और ऐसे में True Caller जैसी एप्स जरूरी भी हो जाती हैं। 

तकनीकी विशेषज्ञ True Caller को डाटा चुराने वाली एप भी बताते रहे हैं और तमाम नकारात्मकता के बाद भी यह एप अपनी खसियतों की वजह से सबसे ज्यादा उपयोग  की जाने वाली एप बनी हुई है।   

गत मंगलवार (08 सितंबर) को गूगल ने सभी एंड्रॉएड आधारित फोन्स पर Verified Calls के एक नए  फीचर की घोषणा की है। अपने शुरुआती चरण में यह फीचर भारत, ब्राजील, मैक्सिको, स्पेन और अमेरिका में उपलब्ध कराया जाएगा और बाद में दुनिया के सभी एंड्रॉएड आधारित फोन्स में इसका अपडेट दिया जाएगा।
   

इससे पहले दिसंबर 2019 में Verified SMS नाम का फीचर गूगल द्वारा उपलब्ध कराया गया था और इसके सफल परिणामों और लोकप्रियता के बाद अब गूगल ने ट्रू कॉलर को चुनौती देने का पूरा मन बना लिया है। 

Verified Calls नाम का यह नया फीचर फोन में पहले से ही मौजूद गूगल एप के ही एक हिस्से के रूप में कार्य करेगा, यानी इस फीचर के उपयोग हेतु किसी अन्य एप को इन्स्टॉल करने की आवश्यकता नहीं होगी। 

इस फीचर के जरिए कॉलर का नाम , उसका लोगो, और व्यापारिक पहचान की जानकारी स्क्रीन पर ही मिल जाएगी जिससे निश्चित तौर पर स्पैम और फ्रॉड कॉल्स से बचा जा सकेगा। 

गूगल के आधिकारिक ब्लॉग पर उपलब्ध इस फीचर के बारे में अधिक जानकारी यहाँ क्लिक करके प्राप्त कर सकते हैं। 


-यशवन्त माथुर- 

13 August 2020

Libre office का वर्जन 7.0 जारी

ऑफिस सॉफ्टवेयर के प्रयोग के बारे में यदि बात की जाय तो ढेरों विकल्प उपलब्ध होने के बाद भी एम एस ऑफिस के बाद सर्वाधिक उपयोग किया जाने वाला सॉफ्टवेयर लिब्रे ऑफिस (Libre Office) ही है।
(Image with thanks from libreoffice.org)

लिब्रे ऑफिस (Libre Office) एक ऐसा ऑफिस प्रोग्राम है जो न सिर्फ लिनक्स बल्कि विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम को भी सपोर्ट करता है। 

एम एस ऑफिस जहां ढेरों फीचर्स से युक्त एक पेड (Paid) सॉफ्टवेयर है वहीं मुक्त स्रोत होने के कारण लिब्रे ऑफिस मुफ़्त होने के साथ ही एक सामान्य प्रयोगकर्ता को उसकी आवश्यकता के सभी फीचर्स उपलब्ध कराता है।

अभी हाल ही में इसके विकासकर्ताओं की ओर से एक नया वर्जन 7.0 जारी किया गया है। जानते हैं इस वर्जन की कुछ मुख्य बातें-
  1. इस नए वर्जन में यूजर इंटरफ़ेस पर काम किया गया है और इसे SUKAPURA नाम की एक नई थीम से और आकर्षक बनाने का प्रयास किया गया है। 
  2. लिब्रे ऑफिस (Libre Office) के स्प्रेडशीट प्रोग्राम CALC में  “RAND.NV()” और “RANDBETWEEN.NV()” को सक्षम किया गया है। 
  3.  Libre Office Writer में padded numbering का विकल्प जोड़ कर और अधिक सुविधाजनक बनाया गया है। साथ ही Semi Transparent Text का विकल्प भी जोड़ दिया गया है। 
इनके अलावा Impress & Draw  में आमूल-चूल परिवर्तन करने के साथ ही अब Vulkan और ODF 1.3Suport के द्वारा इसे और भी अधिक उपयोगी बना दिया गया है।

Libre Office 7.0 के बारे में और अधिक जानकारी यहाँ क्लिक करके प्राप्त कर सकते हैं। 


Libre Office Download Page


-यशवन्त माथुर-

12 August 2020

Windows10 जैसा दिखने वाला नया ऑपरेटिंग सिस्टम - Linuxfx

जैसा कि हम जानते हैं, वर्तमान में कंप्यूटर उपयोगकर्ताओं हेतु 3 प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम्स प्रचलन में हैं-Windows, Mac और Linux. भारत में एक सामान्य प्रयोगकर्ता विंडोज़ पर ही कार्य करना पसंद करता है क्योंकि यह बहुत ही आसान और सुविधाजनक है। 

(Image curtsy:Google Image Search)

इसके विपरीत Mac एप्पल के लैपटॉप पर देखने में आता है और लिनक्स के लिये यह माना जाता है कि इस पर कार्य करने हेतु विशेष तकनीकी कुशलता की आवश्यकता होती है। 

एक तरफ जहां विंडोज और मैक पेड (Paid) ऑपरेटिंग सिस्टम्स हैं वहीं लिनक्स और इस पर चलने वाले सॉफ्टवेयर मुक्त स्रोत (Open Source) होने के कारण बिल्कुल मुफ़्त होते हैं, अर्थात इन्हें मुफ़्त में डाउनलोड किया जा सकता है, इनके तकनीकी कोड्स में परिवर्तन किया जा सकता है और मुक्त रूप से वितरित भी किया जा सकता है।

(Image curtsy:Google Image Search)

यूं तो लिनक्स के बहुत सारे वर्जन उपलब्ध हैं लेकिन ubuntu एक सामान्य लिनक्स प्रयोगकर्ता द्वारा सर्वाधिक प्रयोग और पसंद किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है। 

ubuntu के ही कोड्स में परिवर्तन करके एक नए ऑपरेटिंग सिस्टम Linuxfx/Winfx का विकास ब्राजील के डेवलपर राफेल राशिद (RAFAEL RACHID) द्वारा किया गया है जो दिखने और कार्य करने में बिल्कुल विंडोज 10 के जैसा ही है। 

(Image curtsy:Google Image Search)

अन्य लिनक्स वितरणों के विपरीत  कंप्यूटर पर इंसटालेशन और कार्य करना बहुत ही सुविधाजनक होने के कारण  Linuxfx/Winfx वर्तमान में चर्चा बना हुआ है। 

तकनीकी विशेषज्ञों का मानना है कि विंडोज के लोगो और ले-आउट का प्रयोग करने के कारण एक ओर जहां इसके विकासकर्ता पर माइक्रोसॉफ्ट की ओर से कॉपीराइट का उल्लंघन का मामला दर्ज कराए जाने की संभावना है वहीं दूसरी ओर Linuxfx/Winfx  अपनी सरलता के कारण विंडोज के लिए खतरे की घंटी बन कर उभरा है। 

बहरहाल जो भी हो, यदि Linuxfx/Winfx विंडोज का एक मजबूत प्रतिद्वंद्वी बन कर उभरता है तो यह लिनक्स की लोकप्रियता को बढ़ाने के साथ ही सभी के हित में होगा। 

(Image curtsy:Google Image Search)

Linuxfx/Winfx के बारे में अधिक जानकारी निम्न लिंक्स पर प्राप्त की जा सकती है-






-यशवन्त माथुर-